भारतीय टीम की हार का कोई विकल्प ही नहीं

Social Icons

April 01, 2011

भारतीय टीम की हार का कोई विकल्प ही नहीं

जब भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच क्र्वाटर फाइनल मैच होना था तो उसे मिनी-फाइनल कहा गया और अब भारत-पाकिस्तान सेमीफाइनल मैच को महा-मुकाबला और फाइनल से भी बड़ा फाइनल कहा जा रहा है। इस मैच को लेकर इतना अधिक माहौल बना दिया गया है कि शनिवार को होने वाला फाइनल मैच और अन्य क्रिकेट गतिविधियां अब द्वितीयक बातें प्रतीत हो रही हैं। परिदृश्य कुछ ऐसा है कि यहां भारतीय टीम की हार का कोई विकल्प ही नहीं बचता।

टीम के बल्लेबाजों ने लय हासिल कर ली है। युवराज सिंह ऑलराउंड प्रदर्शन कर रहे हैं। बहरहाल, टीम चाहे कितना भी बढि़या प्रदर्शन करे, यह संभव नहीं है कि उसके 11 के 11 खिलाड़ी हर मैच में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर सकें, लेकिन भारत जैसे देश में कोई यह मानने को तैयार नहीं होता।


तो ट्रेलर में देखा गया सस्पेंस अब धीरे-धीरे अपने चरम पर पहुंच कर खत्म होने की तरफ बढ़ रहा है। यहां अब बेहतर नहीं बल्कि बेहतरीन करने का वक्त आ गया है। जो टीम ऐसा कर गई वो इस सस्पेंस को खत्म करने में कामयाब हो जाएगी। तो अब ये देखना दिलचस्प होगा कि आखिर इस तिलिस्म को भेद कर कौन सी टीम दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम बनने का गौरव हासिल करेगी। 

No comments:

Post a comment

आपकी टिप्पणी(comments) हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है।
अत: टिप्पणी कर उत्साह बढ़ाते रहें।